UPHIN/2016/71934

मिस्र में नील नदी के किनारे रोका गया शिप, तमिलनाडु के 17 लोगो की निगरानी शुरू

इंडिया के तमिलनाडु से ताल्लुक रखने वाले 17 भारतीयों को क्रूज शिप ‘ए सारा’ पर निगरानी में रखा गया है. ये जहाज मिस्र के लक्सर शहर के पास नील नदी के किनारे खड़ा है. 18 सैलानियों का एक दल सेलम स्थित ऑपरेटर के जरिए टूर पैकेज पर गया था. ये दल 27 फरवरी को भारत से रवाना हुआ था और इसे 7 मार्च को स्वदेश लौटना था।

जहाज पर 6 मार्च को स्वास्थ्य अधिकारियों ने मुआयना किया, सैलानियों और क्रू सदस्यों के टेस्ट किए. जहाज पर मौजूद 33 सैलानियों और 12 क्रू सदस्यों के सैंपल पॉजिटिव पाए गए. चेन्नई के रहने वाले एक इंजीनियर को अस्पताल भेजा गया. उसकी पत्नी को जहाज पर ही निगरानी में रखा गया है।

किचन को सेनिटाइज किया गया, खाने को कुछ नहीं

पृथक निगरानी के पहले दो दिन जहाज पर सवार लोगों के लिए बहुत खौफ वाले रहे, क्योंकि उन्हें पता ही नहीं था क्या करना है. जहाज के किचन को सेनिटाइज करने की वजह से उनके पास खाने को भी कुछ नहीं था. फंसे हुए सैलानियों के परिवारों और ट्रेवल एजेंट्स ने मिस्र स्थित भारतीय दूतावास से संपर्क कर मदद की गुजारिश की. रविवार रात से सैलानियों को खाना मिल रहा है. उनसे दवाओं की जरूरत के बारे में भी पूछा गया है।

वनिता रंगराज ने अपनी दिक्कतों के बारे में बताया. उन्होंने कहा, ‘कमरे में बैठे रहना जेल में रहने के समान है. आप कुछ नहीं कर सकते. वो एक शख्स को अस्पताल ले गए, उसकी पत्नी बहुत रो रही है. हम उसे सांत्वना नहीं दे सकते. पहले दो दिन बहुत अनिश्चितता के थे. अब मैं और मेरे पति कमरे में बैठे हैं. उन्होंने कहा है कि हम चाहें तो बाहर जा सकते हैं लेकिन ये सुरक्षित नहीं है. उन्होंने हमसे कहा है कि 14 दिन हमें ऐसे ही रहना होगा. कल रात से हमें खाना और अन्य सुविधाएं मिलना शुरू हुआ है. तब तक जहाज का किचन बंद था. मेरी बेटी और ट्रैवल एजेंट्स ने दूतावास से संपर्क किया और मुझे लगता है कि दूतावास की ओर से दखल दिया गया.’।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x

COVID-19

India
Confirmed: 8,040,203Deaths: 120,010
error: Content is protected !!
WhatsApp chat