पतझड़..

सोनिया सिंह उमा देवी गैस पर चाय का पानी चढ़ाकर अपने पति शशिभूषण जी का इंतजार कर रही थी। शशि भूषण जी इंटर कॉलेज में प्रवक्ता थे ,लेकिन अब रिटायर…

दारा के विचारों को दुनिया के सामने लाने का प्रयास कर रही केंद्र सरकार

धर्मद्रोह के अभियान में दारा शिकोह को औरंगजेब द्वारा सुनाई गयी थी मौत की सजा -भारतीय संस्कृति से बहुत प्रभावित था दारा, किया था श्रीमद्भगवद्गीता का फारसी में अनुवाद लियाकत…

संक्रांति का पर्व है आया,हल्की धूप साथ में लाया..

मकर संक्रांति संक्रांति का पर्व है आया हल्की धूप साथ में लाया खुशियां मेरे मन में छाई सखियों के मन को भी भाई। लाल हरी या फिर हो पीली आसमान…

काव्य संध्या में कोरोना की खूब खिल्ली उड़ाई, झूमते रहे श्रोता

True story ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क में पटेल संस्कृति कला केंद्र में योग मैडिटेशन क्लब द्वारा नव वर्ष मिलन समारोह को काव्य संध्या के भव्य आयोजन उत्तराखंड के हरिद्वार…

अपनी राख से जिंदा फिर हुआ फीनिक्स..

डर क्या है ? किसी खोए हुए सुखद पल की अनुपस्थिति है या इसे दूसरे ढंग से भी कह सकते हैं कि किसी सुखद पल का खो जाना ही डर…

नववर्ष का तोहफा है ‘बहुरूपिया’

डॉ.अलका वशिष्ठ साहित्य-जगत् में यह हर्ष का विषय है, नव वर्ष के मौके पर प्रो.असलम जमशेदपुरी के नवीन कहानी संग्रह ‘बहुरूपिया’ को रवि पॉकेट बुक्स मेरठ ने तोहफे के रूप…

आओ लौट चलें अपने गांव, जहां बसती है देश की आत्मा

आओ लौट चलें अपने गांव, जहां बसती है भारत की आत्मा डॉ.ओ पी चौधरी अचानक आज शाम को राम निहोर काका की याद आ गई, आए भी क्यों न, शाम…

सावित्रीबाई फुले..

3 जनवरी को सावित्रीबाई फुले के जन्मदिन को समर्पित कविता सावित्रीबाई फुले। ——±——–++– आज ही के दिन जन्मी थी, देश की पहली शिक्षिका सावित्रीबाई फुले। महाराष्ट्र के सतारा जिले में,…

दुनिया में डर का बड़ा बाज़ार..

दुनिया में डर का एक बहुत बड़ा बाज़ार (market) है। वह चांदनी रातों में सोया उसने सुनहरी धूप का मज़ा उठाया, कुछ करने की तैयारी में जिंदगी गुजारकर वह गुजर…

उम्मीदों से भरा नववर्ष-2021

अपने खोए सपने खोए और बीत गया ये साल अब दुआ यही करती हूँ नए साल में रहें सभी खुशहाल। नए वर्ष में नई उमंगो का हो लोंगो में संचार,…

x

COVID-19

World
Confirmed: 97,985,728Deaths: 2,101,806
WhatsApp chat