अपना मुज़फ्फरनगर

दीपावली मेले के नाम पर सजी नुमाइश बंद कराई गई

मुजफ्फरनगर के नुमाईश मैदान में दीपावली मेले की आड़ में सजाई गई नुमाइश मुख्यमंत्री से हुई शिकायत के बाद पर 25 दिन बाद बंद करा दी गई। इससे पहले इस मेले को लेकर क्रांति सेना सहित कई संगठनों ने सवाल खड़े किये थे।

नुमाइश मैदान से बाहर निकाले गए दर्शक

एक हफ्ते पहले रामपुरी निवासी रवि प्रताप ने इस बारे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। रवि प्रताप ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 28 अक्टूबर से 3 नवंबर तक सभी नगरपालिका क्षेत्रों में दीपावली मेला लगाने के आदेश दिए थे। इसके लिए मुजफ्फरनगर में भी दीपक दीपावली मेला सजा था। इनका कहना था कि 3 नवंबर को इस मेले का समापन होना था। लेकिन यहां यह मेला चल रहा है। मिनी नुमाइश में सर्कस व झूले आदि में भारी भीड़ चल रही थे।जहां पुलिस की भी मौजूदगी नहीं थी आरोप था कि कवाल कांड जैसी त्रासदी झेल चुके मुजफ्फरनगर में सांप्रदायिक माहौल कभी भी गरम हो जाता है। इनका कहना था कि हिंदू संगठनों ने भी कई दिन तक प्रदर्शन कर जांच की मांग की। लेकिन अफसरों ने इसे प्राइवेट मेला बताकर चुप्पी साध ली।रवि प्रताप ने इस पूरे मामले की जांच किसी सीनियर आईएएस अफसर से कराए जाने की मांग की थी। आईजीआरएस के माध्यम से शिकायत जिला मुख्यालय आई तो आनन फानन में मेला बंद करा दिया गया। ताकि शिकायत का निस्तारण हो सके।

TRUE STORY

खबर नही, बल्कि खबर के पीछे क्या रहा?

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Open chat