Breaking News

अंकित की शहादत का राज गहराया- आखिर कैसे लगी इतनी गोलियां….

जिला प्रशासन के पास नही आई शहादत की अधिकारिक सूचना

मुजफ्फरनगर नगर पालिका परिषद के पूर्व सभासद प्रमोद बालियान के बेटे सशस्त्र सीमा बल जवान अंकित की असम में हुई शहादत का राज गहराता जा रहा है। प्रशासन की और से कहा गया है कि अंकित की शहादत की कोई पुष्टि नही हुई है। इससे पहले सवेरे सूचना मिली थीं की अंकित कोकराझार में हए हमले में शहीद हो गया। इसकी परिवार को जानकारी मिली तो घर में कोहराम छा गया। देर रात असम से अंकित को कई गोलियां लगने की सूचना परिवार के लोगों को मिली थी। जिसके बाद अस्पताल में जवान के निधन की जानकारी सामने आई। आशंका जताई जा रही है कि अंकित का देहांत नक्सली हमले में हुआ।


नगर पालिका के वार्ड सभासद रहे प्रमोद बालियान मूल रूप से बघरा क्षेत्र के मुकन्दपुर के निवासी है। हाल में में द. कृष्णापुरी में रह रहे है। उनका पुत्र 30 वर्षीय अंकित चौधरी असम के कोकराझार जिले में भारत-भूटान सीमा के समीप सशस्त्र सीमा बल में पोस्टेड था। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार देर सायं परिवार के लोगों को जानकारी मिली थी कि एक हमले में अंकित को कई गोली लगी हैं। जिसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। अंकित के अस्पताल में आईसीयू में भर्ती होने की जानकारी भी परिवार के लोगों को दी गई। लेकिन देर रात कोकराझार से अंकित के शहीद होने की खबर आई। बड़े भाई मोनू ने बताया कि अंकित एसएसबी में 2013 में भर्ती हुआ था। कई पोस्टिंग के बाद उसे कोकराझार भेज दिया गया था।


बताया कि इस बारे में पूरी जानकारी नहीं मिल रही है कि हमला किसने किया। सूत्रों की माने तो भारत-भूटान सीमा के समीप नक्सली हमले में अंकित को गोलियां लगी हैं। हांलाकि किसी भी अधिकारिक सूत्र ने घटना की पुष्टि नहीं की है। परिवार के लोगों का कहना है कि उन्हें सिर्फ अंकित के गोलियां लगने की जानकारी दी गई। जिसके बाद उसके देहांत की खबर आई। अंकित का शव शुक्रवार सायं तक दिल्ली और वहां से देर रात पैतृक आवास पर आने की उम्मीद है। अंकित के परिवार में पत्नी तथा 6 एवं डेढ़ वर्षीय दो बेटियां हैं।

शहीद अंकित के घर पहुंची चेयरपर्सन अंजू अग्रवाल
-एसएसबी के जवान के घर पहुंचकर गमगीन पिता और परिवार को बंधाया ढांढस

मुजफ्फरनगर नगरपालिका परिषद् के पूर्व सभासद और भाजपा नेता प्रमोद कुमार बालियान के युवा पुत्र सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के जवान अंकित के भारत-भूटान सीमा पर पेट्रोलिंग के दौरान हुई शहादत को लेकर आज पालिका की चेयरपर्सन अंजू अग्रवाल उनके पैतृक आवास पर पहुंची और शहीद जवान के गमजदा पिता के साथ ही परिवारीजनों को ढांढस बंधाया। चेयरपर्सन ने कहा कि अंकित की शहादत पर पूरे देश के लोगों के साथ ही हम सभी को गर्व है। वह मातृभूमि की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान करने वाला वीर है। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में हम परिवार के साथ खड़े हैं। भाजपा नेता एवं पूर्व सभासद प्रमोद बालियान निवासी दक्षिणी कृष्णापुरी का 30 वर्षीय बेटा अंकित असम के कोकराझार जिले में भारत-भूटान सीमा के समीप शस्त्र सीमा बल में कार्यरत था। देर सायं परिवार के लोगों को जानकारी मिली थी कि एक हमले में अंकित को कई गोली लगी हैं, उसे गंभीर अवस्था में एसएसबी के अधिकारियों ने उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। इस फोन के बाद ही परिवार की नींद उड़ गयी थी। पूरा परिवार बैचेन हो गया था। प्रमोद बालियान के बड़े पुत्र मोनू बालियान ने बताया कि एसएसबी के अफसरों ने फोन पर उनको बताया था कि अंकित की हालत नाजुक और उसको उपचार के लिए आईसीयू में भर्ती कराया गया था, लेकिन देर रात कोकराझार से अंकित के शहीद होने की खबर आई। सवेरे अंकित ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। हालांकि चिकित्सकों ने उसे बचाने के लिए भरसक कोशिश की, लेकिन वो कामयाब नहीं हो पाये। मोनू ने बताया उसका छोटा भाई अंकित साल 2013 में आयोजित भर्ती के दौरान एसएसबी में चयनित हुआ था। कई पोस्टिंग के बाद वर्तमान में उसको असम राज्य के कोकराझार इलाके में भेज दिया गया था। उसकी दो बेटियां और पत्नी है। इसकी जानकारी मिलने पर पालिका की चेयरपर्सन अंजू अग्रवाल शहीद जवान के आवास पर पहुंची और गमगीन पिता को ढांढस बंधाया और सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि अंकित की शहादत पर देश को गर्व है और उसका बलिदान हमेशा याद रखा जायेगा। इस दौरान पालिका के स्टेनोग्राफर गोपाल त्यागी भी चेयरपर्सन के साथ रहे।

TRUE STORY

TRUE STORY is a Newspaper, Website and web news channal brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists...

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!