अपना मुज़फ्फरनगर

आढ़ती के अपहरण से सनसनी,पत्नी ने सकुशल बरामदगी की गुहार लगाई

मुजफ्फरनगर के खतौली कस्बे में कुछ बाइक सवार दिन दहाड़े आढ़ती का अपहरण कर फरार हो गये। आढ़ती के अपहरण की सूचना के बाद लोगो मे सनसनी फैल गई। आढ़ती की पत्नी ने अपहरणकर्ताओं के खिलाफ कोतवाली पर तहरीर देते हुए उसके पति के साथ अनहोनी होने की आशंका व्यक्त करते हुये उसके पति को सकुशल बरामद करने की गुहार लगाई है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।
सोमवार की दोपहर बाइक सवार तीन लोग काफी देर से किसी व्यक्ति की तलाश में रैकी कर रहे थे। तभी बाइक सवार बदमाश सैनी नगर निवासी सब्जी आढ़ती आकाश पुत्र महेंद्र को जबरन उठा कर बाइक पर बैठा कर फरार हो गये। दिन दहाड़े आढ़ती के अपहरण होने के बाद कॉलोनी वासियो में सनसनी फैल गई। बाइक सवारों के फरार होने के बाद आढ़ती की पत्नी रोते बिलखते चिल्लाते हुए बाइक सवारों के पीछे भागी ओर शोर मचाकर लोगो से उसके पति को उठाकर ले जाने की बात कही। महिला की आवाज सुनने के बाद लोगो ने बाइक सवारों का पीछा कर उन्हें पकड़ने का प्रयास किया। लेकिन बाइक सवार हाथ नही लग पाये। इस घटना के बाद पीड़ित महिला अंजली सैनी पत्नी आकाश ने खतौली कोतवाली पर पहुँच अपहरण कर्ताओं के खिलाफ नामदर्ज तहरीर देते हुये पुलिस ने उनकी तलाश कर उसके पति को सकुशल बरामद करने की गुहार लगाते हुये उसके पति के साथ अनहोनी होने की आशंका व्यक्त करने की बात कही। महिला की तहरीर के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी थी। वही सूत्रों की माने तो आकाश सैनी और अपहरणकर्ताओं के बीच लाटरी के रुपयो को लेकर विवाद चला आ रहा है। लोक डाउन के दौरान काम काज ठप होने पर सब्जी का काम बंद हो जाने के कारण आकाश लाटरी के रुपये नही दे पाया रहा था। जिसके चलते बाइक सवार लोग आढ़ती को उठाकर फरार हो गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कही सूदखोर तो नही घटना के पीछे
मुजफ्फरनगर में लाटरी और सूदखोरी का धंधा जोरो शोरो पर चल रहा है। यही नही सूदखोरी और लाटरी बाजी की आड़ में ये लोग गरीब लोगों को अपना शिकार बना कर उनसे वसूली कर रहे है। यही नही ये लोग अपनी जेब भरने के लिये गरीब लोगों को अपना शिकार बना कर उसे और उसके परिवार के लोगो को धमकी देकर उनसे जबरन वसूली करते है। लेकिन हैरत की बात तो यह है कि ये लोग बिना लाइसेंस के काम करते है और स्थानीय प्रशासन को इसकी जानकारी नही है ऐसा तो हो नही सकता। फिर भी इन लोगो की चपेट में आने से हजारो परिवार बर्बादी की और जा चुके है। यही नही आये दिन इस सम्बंध में आने वाली शिकायतो के बाद भी स्थानीय प्रशासन हाथ बांधे बैठा है। लगता है कही न कही प्रशासन का इन लोगो को अंदर खाने सपोर्ट है।

TRUE STORY

खबर नही, बल्कि खबर के पीछे क्या रहा?

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Open chat