Breaking News

रातों-रात स्टारडम की चाहत वाले टिक नहीं पाते…

नए सिंगर रातों-रात स्टार बनने की कोशिश करते हैं, इसलिए लंबा नहीं चल पाते। बिना स्ट्रगल किए और बिना किसी गुरु से काम सीखे जो कलाकार थोड़े ही समय में फटाफट सब कुछ पाना चाहते हैं वे कामयाब नहीं हो पाते हैं। टिकाऊ सफलता के लिए कड़ी मेहनत, धैर्य, अनुभव और काबिलियत की जरूरत होती है। यह बात बॉलीवुड के प्रसिद्ध सिंगर मीका सिंह ने कही। उन्होंने कहा, “मैंने 75 रुपए मेहनताने से काम शुरू किया था और दलेर मेहंदी जैसे कई बड़े गायकों का असिस्टेंट बनकर इंडस्ट्री की बारीकियां सीखीं। पहला गाना आया तो मुझे 1000 रुपए मिले थे। पूरा स्ट्रगल करके, समय के साथ आगे बढ़ते हुए आज एक स्टार का दर्जा मुझे हासिल हुआ है, जबकि नए कलाकार इस मुकाम पर रातों-रात पहुंचना चाहते हैं। किसी सिंगर का एक गाना हिट हो जाता है तो वह खुद को कामयाब समझने लगता है, जबकि एक हिट गीत के बलबूते ढाई-तीन घंटे का स्टेज शो नहीं किया जा सकता। आज मेरे खुद के इतने सारे हिट गाने हैं कि अपने ही गाने गाकर मैं तीन घंटे का शो पूरा कर देता हूं। उन्होंने कहा कि उनके कई गाने पिछले एक दशक से लगातार हिट चले आ रहे हैं और लोग आज भी सब गानों को एंजॉय करते हैं।”

इसमें कोई दो राय नहीं कि परमानेंट कामयाबी रातोंरात नहीं मिलती है। रातोंरात कोई व्यक्ति प्रसिद्धि तो पा सकता है, क्योंकि यह सोशल मीडिया का जमाना है, परंतु ऐसी कामयाबी नहीं पा सकता कि लोग उसे सालों साल याद रख सकें। उसके लिए तो प्रतिभा, परिश्रम और अनुभव की गलियों से गुजरना होता है। इन्हीं खासियतों की वजह से मीका सिंह आज सिंगिंग के मामले में बॉलीवुड के किंग कहलाते हैं। वह एक जबर्दस्त परफॉर्मर हैं। मीका सिंह का एक रीएलिटी शो – स्वयंवर, मीका दी वोटी अगले महीने से स्टार भारत टीवी चैनल पर शुरू होने जा रहा है, जिसमें मीका अपने लिए एक उपयुक्त जीवनसाथी का चुनाव करेंगे। यह एक म्यूजिकल शो होगा, जिसमें करीब 30 युवतियां हिस्सा लेंगी। शो के बारे में उन्होंने कहा, “मैं शादी के लिए खुद को तैयार करने के लिए सब कुछ कर रहा हूं क्योंकि मुझे अच्छा दिखना है। मैंने अपनी खुराक कम कर दी है। मैं जीवन के इस नए चैप्टर को लेकर रोमांचित हूं। मैं एक ऐसी जीवनसाथी की तलाश में हूं जो मुझे समझ सके, मेरे परिवार को खुश रख सके और सबको साथ लेकर चल सके।”

उन्होंने कहा कि उनका परिवार बस यही चाहता है कि वह अब वैवाहिक जीवन में भी सेटल हो जाएं। उन्हें और कोई उम्मीद नहीं है। “मुझे एक ऐसा साथी चाहिए जो मेरे काम के नेचर को समझ सके, क्योंकि मैं यात्रा बहुत करता हूं,” सिंगर ने कहा। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को शुभकामनाएं देते हुए मीका सिंह ने कहा कि नशा और अपराध बढ़ाने वाले गानों पर रोक लगाने का सरकार का फैसला उचित है। उन्होंने कहा कि उन्होंने भगवंत मान के साथ कई शो किए हैं और मान एक नेकदिल इंसान हैं। बीते दो वर्षों में लॉकडाउन के समय, मीका ने अपने एनजीओ – डिवाइन टच के माध्यम से प्रतिदिन एक हजार लोगों के लिए लंगर की व्यवस्था की। एनजीओ अनेक शहरों में भलाई के कार्य कर रहा है।

नरविजय यादव
वरिष्ठ पत्रकार व कॉलमिस्ट हैं।

टि्वटर @NarvijayYadav

TRUE STORY

TRUE STORY is a Newspaper, Website and web news channal brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists...

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!