एन सी आर

महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए अमेज़न ने किया मिशन के साथ सहयोग

महिला उद्यमिता दिवस-

मेरठ : महिला उद्यमिता दिवस पर अपने अग्रणी कार्यक्रम-अमेजन सहेली के अंतर्गत, अमेज़न इंडिया ने उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (यूपीएसआरएलएम) के साथ देश भर में महिला उद्यमियों के विकास में तेजी लाने के लिए सहयोग की घोषणा की। इसके जरिए अमेज़न और सरकार लाखों महिला उद्यमियों की सहायता और उन्हें सशक्त बनाने के लिए एक साथ आएगी एवं अमेज़न संस्था समस्त राज्य की महिला एन्टरप्रेन्योर को www.amazon.in के साथ अपने व्यवसाय को ऑनलाइन पंजीकृत करने और व्यापक बाजार आधार तक पहुंचने के लिए सहायता करेगी।
अमेज़ॅन इंडिया के सेलर पार्टनर सर्विसेज के निदेशक सुमित सहाय ने कहा, “2025 तक 1 करोड़ एमएसएमई को डिजिटाइज़ करने की हमारी प्रतिबद्धता के अनुरूप, हमें यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि हम उत्तर प्रदेश में यूपीएसआरएलएम के साथ राज्य भर में लाखों महिला उद्यमियों को प्रभावित और सशक्त बनाने के लिए सीधे सहयोग कर रहे हैं। महिला उद्यमी जो अपना खुद का कुछ शुरू करने के सपने को जीना चाहती हैं, हम उन्हें सक्षम और सशक्त बनाना चाहते हैं तथा इसके लिए अमेज़न, बाजार सेवाओं का एक व्यापक सूट और निरंतर समर्थन इन महिलाओं को प्रदान करना चाहता है। सरकार के साथ इस सहयोग से हम महिला विक्रेताओं को उनके ई-कॉमर्स को किकस्टार्ट करने में मदद करके उनके जीवन को बदलना चाहते हैं।“ आनन्द स्वरूप शुक्ला (राज्य मंत्री, संसदीय कार्य, ग्रामीण विकास और समग्र ग्राम विकास, उत्तर प्रदेश सरकार) ने कहा: “जब एक महिला सफल होती है, तो पूरे परिवार को लाभ होता है। विकास को गति देने में महिलाओं के सशक्तिकरण से अधिक प्रभावी कोई साधन नहीं है। सरकार के साथ इस सहयोग के हिस्से के रूप में, अमेज़ॅन सहेली कार्यक्रम इसके प्रतिभागियों के लिए ऑनलाइन बिक्री की बारीकियों को समझने के लिए उनसे जुड़ी महिला उद्यमियों की मदद करता है एवं व्यापक प्रशिक्षण और कौशल विकास कार्यशालाओं की पेशकश करता है जिससे महिला उद्यमियों को Amazon.in पर अपना व्यवसाय बढ़ाने के लिए आवश्यक क्षमताएं और कौशल विकसित करना काफी आसान हो  जायेगा।

अमेज़न-सहेली 50 से अधिक भागीदारों के साथ करती है काम
बतादे की आज 10,00,000 से अधिक महिला उद्यमियों की पहुंच के साथ अमेज़न-सहेली 50 से अधिक भागीदारों के साथ काम करती है जिनमें राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी (JSLPS), असम रूरल इंफ्रास्ट्रक्चर एंड एग्रीकल्चर सर्विसेज (ARIAS), आदि शामिल हैं। वर्तमान में सहेली कार्यक्रम में स्वतंत्र एकल उद्यमी, सामाजिक उद्यमी, शिल्पकार, महिलाओं के नेतृत्व वाले स्टार्टअप शामिल हैं और अमेज़ॅन-सहेली स्टोर पर घर और रसोई, आभूषण, किराने का सामान, परिधान आदि जैसी श्रेणियों में हजारों उत्पाद हैं। 

Related Articles

Back to top button