एन सी आर

शहीद कोतवाल धनसिंह गुर्जर के विचारों को आत्मसात करें युवा: एके शर्मा

स्वामी विवेकानन्द सुभारती विश्व विद्यालय में हुआ शहीद कोतवाल धनसिंह गुर्जर की जयंती पर श्रद्धांजलि व जन सवांद कार्यक्रम

मेरठ। राष्ट्रीय वीर गुर्जर महासभा द्वारा स्वामी विवेकानन्द सुभारती विश्व विद्यालय परिसर स्थित मांगल्या प्रेक्षागृह में शहीद कोतवाल धनसिंह गुर्जर की जयंती पर श्रद्धांजलि व जन सवांद कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधान परिषद के सदस्य व भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष एके शर्मा रहे। एके शर्मा ने संस्कृति विभाग स्थित स्वामी विवेकानन्द सिद्ध पीठ एवं नेताजी सुभाष चन्द्रबोस सिद्ध पीठ पर पुष्प अर्पित किये। कुलपति कार्यालय में विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति ब्रिगेडियर डा. वीपी सिंह, मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. शल्या राज, सुभारती अस्पताल के चिकित्सा उपाधीक्षक डा. कृष्णा मूर्ति एवं लोकप्रिय अस्पताल के निदेशक डा. रोहित रविन्द्र ने मुख्य अतिथि का अभिनंदन करते हुए उन्हें पौधा भेंट कर एवं शाल पहनाकर भव्य स्वागत किया। सुभारती अस्पताल के चिकित्सा उपाधीक्षक डा. कृष्णा मूर्ति एवं लोकप्रिय अस्पताल के निदेशक डा. रोहित रविन्द्र ने सुभारती ग्रुप द्वारा अपने निजी प्रयासों से चिकित्सा के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यो के बारे में जानकारी दी। मांगल्या प्रेक्षागृह में कार्यक्रम संयोजक व राष्ट्रीय वीर गुर्जर महासभा के प्रदेश अध्यक्ष अमनदीप सिंह ने स्वागत उदबोधन दिया। फाईन आर्ट कॉलिज के विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये एवं योगा कॉलिज के विद्यार्थियों ने योग प्रस्तुति देकर सभी को मंत्र मुग्ध कर दिया।
गुर्जर समाज में वीर बलिदानियों का विस्तृत इतिहास रहा
मुख्य अतिथि विधान परिषद के सदस्य व भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष एके शर्मा ने कहा कि गुर्जर समाज में वीर बलिदानियों का विस्तृत इतिहास रहा है। उन्होंने कहा कि पूरब में मंगल पांडे और पश्चिम में ग्राम पांचली निवासी शहीद कोतवाल धनसिंह गुर्जर ने भारतीयों को अंग्रेजों के विरूद्ध सर उठाने का साहस दिया। उन्होंने कहा कि 1857 के क्रान्तिकारी शहीद कोतवाल धनसिंह गुर्जर हमारे लिये प्रेरणा स्त्रोत है और उनके संस्कारों को युवा पीढ़ी अपने अंदर आत्मसात करके देश का नाम रोशन करें। उन्होंने कहा कि गुर्जर समुदाय वीरों का समुदाय है, जो मॉ भारती की सेवा करने हेतु सदैव तत्पर रहता है। उन्होंने कहा कि शहीद कोतवाल धनसिंह गुर्जर की यादों को ताजा रखने के लिये काम करेंगे।
इनका रहा योगदान
इस अवसर पर कैलाश चपराणा, ज्ञानेन्द्र सिंह लिसाडी, सूबेदार सरनाम सिंह, पवन सिंह रावल, बीर महेन्द्र पांचली, कपिल प्रधान, बलराज, संजय प्रधान, संजीव प्रधान, विनोद उपाध्याय, अभिषेक गौड़, संदीप यादव, प्रकाश चौधरी, राहुल प्रताप, राहुल चौधरी, श्याम सुन्दर उपस्थित रहे। सुभारती विश्वविद्यालय से डा. पिंटू मिश्रा, डा. मनोज कपिल, डा. शिवमोहन वर्मा, डा. मनोज त्रिपाठी, विधि खंडेलवाल, अनम शेरवानी आदि उपस्थित रहे।

TRUE STORY

खबर नही, बल्कि खबर के पीछे क्या रहा?

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Open chat