BKU चीफ का बयान: सुप्रीम कोर्ट ने देश के किसानों का दिल जीत लिया

कमल मित्तल
सिसौली।भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि देश की सर्वोच्च न्यायिक संस्था सुप्रीम कोर्ट ने किसानों का दिल जीत लिया। सुप्रीम कोर्ट ने तीन कृषि बिलों के बारे में केंद्र सरकार से पूछा है कि क्या इन कृषि बिलों पर हम रोक लगाएं । सुप्रीम कोर्ट ने चेतावनी भरे लहजे में केंद्र सरकार से पूछा है कि आप किसानों की समस्या को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। साथ ही किसानों को राहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा है कि हम किसानों को अपना प्रदर्शन अन्य स्थल पर करने के लिए भी आदेश नहीं दे सकते। किसान पिछले काफी समय से दिल्ली के गाजीपुर व सिद्धू बॉर्डर सहित आठ-दस मोर्चो पर दिल्ली के अन्दर जाने के लिए डेरा जमाई पड़े हैं, लेकिन केंद्र सरकार के अड़ियल रवैए के चलते दिल्ली में प्रवेश की अनुमति नहीं मिली है। केंद्र सरकार किसानों की मांग पर सहानुभूति पूर्वक विचार भी नहीं कर रही है। किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि कानूनों को रद्द किया जाए तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर एक कानून लाया जाए।
जबकि सरकार के केंद्र सरकार के प्रतिनिधि इन तीन कृषि बिलों में मामूली फेरबदल की वकालत कर रहे हैं जिसे किसान कतई स्वीकार करने के मूड में नहीं है ।
चौधरी नरेश टिकैत ने गत दिवस मीडिया को दिए अपने बयान के बारे में बताया कि उन्होंने यह कहा था कि एक- दो फर्जी किसान संगठन के लोग सरकार को गलत तरीके से समर्थन कर इन कृषि बिलों की वापसी में रोड़ा बने हुए हैं। किसान नेता ने कहा कि जो किसान संगठन सिंधु बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर सहित आठ -दस मोर्चो पर दिल्ली को घेरे हुए बैठे हैं वे किसानों के सच्चे हितैषी हैं और सभी एकजुटता के साथ किसानों के हित की बात कर रहे हैं ।

x

COVID-19

World
Confirmed: 97,985,728Deaths: 2,101,806
WhatsApp chat