समीर का सितारा फलक पर, बने लाखों के चहेते

True story
मुज़फ्फरनगर।इंटरनेट की दुनिया में कब किसका सितारा फलक पर चमक जाये। कब कोई स्टार बन जाये। इसे कोई नहीं जानता। जन्म लेती प्रतिभाओं के प्रदर्शन का माध्यम बनी शॉर्ट वीडियो एप ने कितनों के भविष्य को चमका दिया है। ग्रामीण क्षेत्र भी इससे अछूता नहीं है।
मोरना के समीर अब्बासी शॉर्ट वीडियो के माध्यम से दिन रात ख्याति प्राप्त कर रहे हैं। प्रसिद्धि के साथ साथ पैसा कमाकर अन्यों के लिए उत्साहवर्धन का साधन बने समीर क्षेत्र में फिल्म उद्योग के बढावे की मांग सरकार से कर रहे है।मुज़फ्फरनगर ज़िले के गाँव मोरना निवासी समीर अब्बासी 17 वर्ष की आयु में यूट्यूब और टिकटॉक के स्टार बन गये हैं।
पिछले लगभग दस माह में समीर के सैकडों शॉर्ट वीडियो टिकटॉक, स्नेक वीडियो व यूट्यूब पर रिलीज हो चुकी हैं। टिकटॉक बन्द हो जाने के बाद समीर ने पुनः अपने आपको दूसरे एप के माध्यम से स्थापित कर लिया है। समीर क्षेत्र में बच्चों व नवयुवकों के चहेते बने हुए हैं। समीर के पिता माजिद अब्बासी कपडे का व्यापार करते हैं। माता रानी बेगम के अलावा भाई आबिद, हसीन, बाबर शादीशुदा हैं। एक छोटी बहन रेशमा छात्रा है।


समीर ने इंटर की परीक्षा पास की है। साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाले समीर को स्टार बनने का जुनून है। टिकटॉक वीडियो के स्टार मिस्टर फैजू 07 व जन्नत जुबैर उनके पसंदीदा हैं। उनके साथी तथा चचेरे भाई शाहबाज अब्बासी उनके सहायक व कम्पोजर तथा कोरियोग्राफर हैं। कम लागत में खूब पैसा कमाना एक आयाम स्थापित कर चुके समीर ने क्षेत्रवासियों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। समीर युवाओं से नशे से दूर रहने की अपील करते हैं व बच्चों से शिक्षा के साथ साथ संस्कार ग्रहण करने की अपील करते हैं।

अपने साथी के साथ समीर अब्बासी

समीर के हैं 1.9 मिलियन फॉलोवर
समीर अब्बासी बताते हैं कि उनकी पहली वीडियो मुस्कान गर्ल फ्रैन्ड के नाम से प्रदर्शित हुई थी, जिसको 30 मिलियन लोगों ने देखा था। गत मार्च में मुस्कान की सफलता के बाद उन्होने टिकटॉक पर 221 वीडियो अपलोड की हैं, जिससे उन्हें काफी ख्याति मिली तथा लाखों की आमदनी होने लगी। सरकार द्वारा टिकटॉक बन्द कर देने के बाद उन्होने दूसरे एप का सहारा लिया है। यहां भी उनके 1.9 मिलियन फॉलोवर्स हैं तथा वह पुनः लाखों कमा रहे हैं।

मोरना क्षेत्र में सुल्तान की शूटिंग को देखकर जागा जुनून
मोरना में सलमान खान की सुल्तान फिल्म की शूटिंग को देखकर समीर अब्बासी को हीरो बनने का शौक जागा था। मोरना के पास फिल्म शूटिंग की सम्भावनाएं मौजूद हैं। गंगा खादर क्षेत्र में प्राकृतिक सौंदर्य तथा शांत वातावरण फिल्म शूटिंग के लिए उपयुक्त है। सरकार ध्यान दे तो देहात क्षेत्र की प्रतिभाओं को भविष्य बनाने का मौका मिल सकता है। अभिनय प्रशिक्षण केन्द्र की स्थापना सरकार को करनी चाहिए।

x

COVID-19

World
Confirmed: 97,985,728Deaths: 2,101,806
WhatsApp chat